आचार्य बालकृष्ण के नाम जुड़ी एक और उपलब्धि, इस काम के लिए डी.लिट की उपाधि से हुआ सम्मान

D lit

आचार्य बालकृष्ण के नाम जुड़ी एक और उपलब्धि, इस काम के लिए डी.लिट की उपाधि से हुआ सम्मान

Sat, 13 Jan 2018: योग और आयुर्वेद को विश्व स्तर पर पहुंचाकर देश का नाम रोशन करने वाले पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है।

स्वामी विवेकानंद की 155वीं जयंती पर बंगलुरू में योग की प्रतिष्ठित संस्था स्वामी विवेकानंद योग अनुसंधान संस्थान ने पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण को डी.लिट की उपाधि से सम्मानित किया। उन्हें यह सम्मान योग और आयुर्वेद के क्षेत्र में किए गए उत्कृष्ट कार्य के लिए दिया गया है।

आचार्य बालकृष्ण के दिशा निर्देशन में योग और आयुर्वेद को लेकर बड़े स्तर पर अनुसंधान चल रहा है। लोग बचपन से योग से जुड़ें इसके लिए आचार्य ने खेल-खेल में योग नाम की पुस्तक लिखी। इसमें योग का मनोरंजक तरीके से प्रस्तुतीकरण किया है।

इसके अतिरिक्त योग से संबंधित अज्ञात, सूक्ष्म एवं प्राचीन विषयों का प्रस्तुतीकरण ‘योग-विज्ञान’ नामक ग्रंथ में किया गया है जो कि उनकी अद्भुत रचनाओं में से एक है। योग को वैज्ञानिकता की कसौटी पर कसते हुए उन्होंने ‘विज्ञान की कसौटी पर योग’ नामक पुस्तक की रचना की है।

इसमें उन्होंने योग के वैज्ञानिक पक्ष को उजागर किया है। इन ग्रंथों के माध्यम से आचार्य बालकृष्ण ने वैज्ञानिक शोध व अनुसंधानपरक विश्लेषण प्रस्तुत किया है। आचार्य बालकृष्ण के निर्देशन में आयुर्वेद को लेकर व्यापक अनुसंधान किए जा रहे हैं।  Read More…