तेलंगाना की सांसद के.कविता का पतंजलि प्रवास

16-11-2017(1-1)

हरिद्वार, 16-नवम्बर-2017 | तेलंगाना की सांसद के.कविता का पतंजलि प्रवास
करोड़ों देशवासियों का गौरव बढ़ाने में लगा है पतंजलि – सांसद के.कविता
हरिद्वार, 15 नवम्बर, 2017 – अपने सामाजिक जागरूकता परक प्रयोगों के लिए पहचानी जाने वाली तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की सांसद तेलंगाना के मुख्यमंत्री की पुत्री सुश्री के. कविता आज पतंजलि के साथ मिलकर तेलंगाना के हित में नये प्रयोगों को गति देने के संकल्प के साथ पतंजलि योगपीठ पधारीं। उन्होंने पतंजलि योगपीठ में योगऋषि पूज्य स्वामी रामदेव जी महाराज आशीर्वाद लिया तथा पतंजलि अभियान के द्वारा तेलंगाना को समृ)शाली बनाने हेतु हस्ताक्षरित संकल्प पत्र का आदान-प्रदान भी हुआ। इसी क्रम में सांसद महोदया ने दोनों ऋषियों के साथ तेलंगाना के उत्थान की सम्भावनाओं एवं अन्य राष्ट्रीय संदर्भ में अपनी अनेक जिज्ञासाओं का समाधान प्राप्त किया।
इस अवसर पर सांसद के. कविता ने कहा कि पतंजलि योग, आयुर्वेद, स्वास्थ्य, शिक्षा, भारतीय ऋषि संस्कृति एवं स्वदेशी अभियान के द्वारा करोड़ों देशवासियों के गौरव को बढ़ाकर राष्ट्रनिर्माण की दिव्य संकल्पना को साकार करने में लगा है। उन्होने कहा पतंजलि अपने प्रामाणिक एवं गुणवत्ता परक स्वदेशी उत्पादों के द्वारा भारत को विदेशी कम्पनियों की दासता से भी मुक्त करा रहा है।
सांसद महोदया ने तेलंगाना के प्राकृतिक उत्पादों की प्रोसेसिंग पर भी चर्चा की और पतंजलि से अपेक्षा व्यक्त करते हुए कहा कि ”पतंजलि के प्रयास से तेलंगाना क्षेत्र की वानस्पतिक एवं फल आदि से संबंधित विशिष्ट उत्पादों को दीर्घ जीवी बनाया जा सकता है। सांसद महोदया ने कहा कि पतंजलि अभियान का शुभारम्भ तेलंगाना में होने से वहां के किसानों को अपने उत्पादों का उचित मूल्य मिलेगा तथा तेलंगाना के युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।
उन्होंने कहा जिस तरह से पूज्य स्वामी जी व श्रद्धेय आचार्य बालकृष्ण जी के पुरुषार्थ से योग, आयुर्वेद जैसी भारत की प्राचीन विरासतें, स्वदेशी चेतना तथा भारतीय संस्कृति को वैश्विक प्रतिष्ठा मिली, इससे स्पष्ट होता है कि भारत शीघ्र ही आर्थिक, सांस्कृतिक आदि क्षेत्रें में विश्व का सुपरपावर देश बनेगा।
मैंने उन्हें आश्वासन देते हुए बताया कि पतंजलि तेलंगानावासियों के हित में वहां के स्वदेशी उत्पादों को देश भर में पहचान एवं पहुंच दिलाने का अभियान चलायेगी।

16-11-2017(1-2) 16-11-2017(1-3) 16-11-2017(1-4)