GOAFEST2017

goafest1

गोवा, 07-अप्रैल-2017 |  #GOAFEST2017 में कल व्यापार जगत के कारोबारियों, व्यापारियों और उद्यमियों को संबोधित किया, संबोधन के कुछ अंश– पहले बाजार में कई संस्थाओं की मनमर्जी थी लेकिन अब पतंजलि जैसी बहुत सारी संस्थाएं आ गई हैं। काम करो तो ईमानदारी से करो, दिल से करो, और बढ़िया करो। ये लोगों के ऊपर छोड़ दो कि वे तुमको कितना स्वीकारेंगे, कितना प्यार करेंगे। हमारा किसी से कंपीटिशन नहीं हैं। आप जिस भी चीज का उत्पादन करें, विनिर्माण करें तो इतना जरूर ध्यान में रखिए कि ये हमारे देश की परंपरा, संस्कृति और सभ्यता के अनुरूप हो। दूसरा यह कि ऐसी चीज बनाइए जिसे अपका परिवार इस्तेमाल कर सके। जिस दिन हम इस तरीके से काम करने लगेंगे तो हमारा देश सिरमौर बन जाएगा। ये मेरा मानना है कि भारत हमारा परिवार है और हम सब कुछ अपने परिवार के लिए बनाते हैं। बाकी की MNCs तो भारत को बाजार समझती हैं, ये ही फर्क है हममें और बाकी लोगों में| इसलिए पतंजलि आज लोगों के दिलों में बसती है। Made In India की जगह हम अपने उत्पादों पर Made In Bharat लिखते हैं। पतंजलि के उत्पादों की गुणवत्ता को लेकर मैंने वादा किया और लोगों को विश्वास दिलाया कि पतंजलि किसी के भी साथ गलत नहीं होने देगी। स्वामी रामदेव जी पतंजलि के आधार स्तंभ हैं। स्वामी जी हैं तो भरोसा है। ये कुछ बाते हैं जो बहुत ही संक्षेप में मैंने आपको बताईं। जल्द ही मैं #GOAFEST2017 में रखे गए अपने विचारों का पूरा वीडियो आपके साथ शेयर करूंगा।

goafest9 goafest10