(04-जनवरी-2017) युवा योगशिविर में योगऋषि के साथ अंतरराष्ट्रीय बाक्सिंग चैम्पियन श्री विजेन्द्र सिंह ने किया योगाभ्यास

20170103-ukw-00563

देश का गौरव बढ़ाने वाला खिलाड़ी किसी योगी से कम नहीं – स्वामी रामदेव
श्री बिजेन्द्र सिंह ने आचार्य श्री से सीखे आयुर्वेद के सूत्र

     हरिद्वार, 04 जनवरी । पतंजलि योगपीठ में दक्षिण भारत, पूर्वोत्तर के जिलों सहित देश भर से लगभग 3400 युवा कार्यकर्ता हिस्सा ले रहे हैं। 01 जनवरी से चल रहे इस युवा भारत निर्माण प्रशिक्षण शिविर का कल 05 जनवरी को पतंजलि परिवार के 22 वें स्थापना दिवस पर समापन होगा। इस शिविर में पधारी अब तक अनेक प्रतिभाओं ने युवाओं में राष्ट्रनिर्माण की प्रेरणायें उभारीं। इसी क्रम में अंतरराष्ट्रीय बाक्सिंग चैम्पियन श्री विजेन्द्र सिंह जी पधारे। उन्होंने पूज्य योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज के साथ मंच पर योगाभ्यास किया और पूज्य स्वामी जी व श्रद्धेय आचार्य बालकृष्ण जी महाराज से आशीर्वाद लिया।

     श्री बिजेन्द्र सिंह जी ने कहा युवा ऊर्जा का स्रोत होता है, पर समुचित मार्गदर्शन के अभाव में उसे भटकते देर नहीं लगती। उन्होंने कहा पूज्य स्वामी रामदेव जी महाराज देश के युवाओं को योगाभ्यास से जोड़कर केवल स्वास्थ्य से ही नहीं जोड़ते हैं, अपितु उनके पतंजलि अभियान से आज देश के लाखों-करोड़ोें युवाओं को स्वदेशी, आयुर्वेद एवं राष्ट्रनिर्माण की दिशा मिली है। उन्होने कहा श्रद्धेय आचार्य बालकृष्ण जी महाराज ने युवाओं के अंतः में बैठे बेरोजगारी के भूत को बाहर निकाल कर उसमें जीवन के प्रति सम्भावनायें जगाई हैं। उन्होंने कहा पतंजलि ऐसा संस्थान है जिससे जुड़ने वाला युवा भोग से मुड़कर योग, आयुर्वेद, वैदिक संस्कृति, स्वास्थ्य, स्वदेशी जैसी दिव्यताओं को अपनाने लगा है, जो देश के लिए बड़ी उपलब्धि है।

इस अवसर पर योगऋषि पूज्य स्वामी रामदेव जी महाराज ने कहा जीवन में राष्ट्रधर्म की ललक एवं योगी जैसी लगन से एक खिलाड़ी का निर्माण होता है। स्वामी जी ने कहा देश का गौरव बढ़ाने वाला खिलाड़ी किसी योगी से कम नहीं होता। श्रद्धेय आचार्य बालकृष्ण जी महाराज ने श्री बिजेन्द्र जी को आयुर्वेद के सूत्रें से जोड़ा और राष्ट्रनिर्माण के लिए हर सम्भव यौगिक पुरुषार्थ करते रहने का आशीर्वाद दिया।

bijender_